Basti News: दो साल से पुल निर्माण का इंतजार, सुस्त हैं जिम्मेदार

24

बस्ती: कुआनो नदी के प्रसिद्ध वाराह क्षेत्र में पुल का निर्माण कार्य दो साल बाद भी शुरू नहीं हो पाया है। वन विभाग के साथ भूमि विवाद का मामला अब तक निस्तारित नहीं हो पाया है। पुल न होने से लोग अस्थायी लकड़ी के पुल से होकर आवागमन करने को मजबूर है। बरसात के समय में नदी उफान पर होती है और इस से गुजरना खतरनाक होता है। क्षेत्रीय लोगों को दो वर्ष पूर्व आस जगी थी लेकिन मामला आगे नही बढ़ सका।

2020 में इस पुल के निर्माण का रास्ता साफ हुआ। शासन से 14 करोड़ 58 लाख रुपये स्वीकृत हुए। इसके साथ ही निर्माण शुरू करने के लिए कार्यदायी संस्था सेतु निगम इकाई गोंडा को दो करोड़ 92 लाख रुपए अवमुक्त भी कर दिया गया। मिट्टी की खुदाई शरू हुई तो वन विभाग ने पुल के दोनों छोरों की ओर अपनी जमीन बताते हुए कार्य रोक दिया है। वन क्षेत्र की जमीन पर कार्य कराने को लेकर प्रशासन ने कार्यदायी संस्था पर छह लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया।

वन विभाग ने कहा कि जिस जगह पुल बनना है उसके पश्चिमी और पूर्वी छोर की भूमि हमारी है। पूर्वी छोर की जमीन का अमलदरामद नहीं हो पाया है। विवाद बढ़ा तो काम बंद हो गया। वन विभाग ने मौके से कई वाहनों को जब्त भी कर लिया था जो मिट्टी खुदाई के काम में लगे थे। इसके बाद तत्कालीन एसडीएम भानपुर आंनद श्रीनेत की अगुवाई में वन विभाग राजस्व विभाग के कर्मचारियों की मौजूदगी में भूमि का चिन्हांकन हुआ। तब से दोनों पक्षों में आपसी सहमति और कागजी प्रक्रिया पूरी करने का काम पूरा नहीं हो पा रहा है। ऐसे में एक बड़ा प्रोजक्ट फंसा हुआ है। अब सवाल यह है कि आखिर निर्माण कार्य कब शुरू होगा?

इनसेट:

वाराह क्षेत्र में पुल निर्माण के संबंध में भारत सरकार से सैद्धांतिक सहमति प्राप्त हो चुकी है। इसके साथ कुछ भुगतान करना है। जल्द भुगतान कराने के साथ शेष प्रक्रिया पूरी करा ली जाएगा। प्रक्रिया पूर्ण होते ही कुछ दिनों में ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। अशोक सिंह, प्रोजेक्ट मैनेजर, सेतु निगम इकाई गोंडा