Viral fever news : अस्पतालों की ओपीडी में कम हुई वायरल फीवर से पीड़ित मरीजों की संख्या

0 228

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

अस्पतालों की ओपीडी में कम हुई वायरल फीवर से पीड़ित मरीजों की संख्या

Number of patients suffering from viral fever reduced in OPD of hospitals.

बस्ती जिला अस्पताल ( Basti District Hospital )

ओपीडी में आने वाले वॉयरल बुखार के मरीजों की संख्या जरूर कम हुई है, लेकिन खतरा टला नहीं है। लापरवाही होने पर वॉयरल बुखार दोबारा तेजी से फैल सकता है। यह कहना है कि जिला अस्पताल में तैनात फिजीशियन डॉ. रामजी सोनी का।

अस्पताल की ओपीडी में फिजीशियन के पास व बालरोग विशेषज्ञों के पास वॉयरल फीवर के केस काफी आ रहे हैं। लोगों को तेज बुखार, जुकाम, उल्टी आदि की शिकायत हो रही है। परिवार में एक व्यक्ति के वॉयरल से ग्रसित होने के बाद पूरा का पूरा परिवार इससे ग्रसित हो जा रहा है। वॉयरल के जो भी केस आ रहे हैं, चिकित्सक दवा देने के साथ ही मरीजों की टॉयफायड, मलेरिया आदि की जांच भी करा रहे हैं। यहां मलेरिया के केस तो नहीं निकल रहे हैं, लेकिन बुखार पीड़ितों में टॉयफायड के मामले अक्सर पाए जा रहे हैं।

डॉ. सोनी का कहना है कि ओपीडी में लगभग 90-100 मरीज आ रहे हैं। इनमें से 20-25 मरीज वॉयरल से ग्रसित होते थे। अब धीरे-धीरे यह संख्या कम हो रही है। इस समय लगभग 10-12 मरीज वॉयरल से पीड़ित आ रहे हैं। लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। अगर लोगों ने लापरवाही की तो इसके फैलाव में समय नहीं लगेगा। वॉयरल से इन दिनों बड़े व बच्चे सभी प्रभावित हैं। लोग चिकित्सकों के यहां काफी संख्या में पहुंच भी रहे हैं।

डॉ. सोनी का कहना है कि इस रोग की रोकथाम के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि जिसको समस्या हो जाए, उससे दूरी बनाकर रखें। पीड़ित खुद भी भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाने से बचे। बाहर की वस्तु न खाएं, घर का बना खाना खाएं। बुखार तेज होने पर शरीर को ताजे पानी से पोछा जरूर लगाए तथा समस्या बढ़ने पर चि्त्सिसक को जरूर दिखाएं।

इसे भी पढ़ें : Basti News Today बस्ती: नरकंकाल की पहचान के लिए डीएनए जांच कराएगी पुलिस, कैली हॉस्पिटल..

Get real time updates directly on you device, subscribe now.