Basti News: स्वास्थ्य विभाग में चयनित 55 एएनएम की तीन माह बाद भी तैनाती नहीं दी जा सकी

32

बस्ती : स्वास्थ्य विभाग में चयनित 55 एएनएम की तीन माह बाद भी तैनाती नहीं दी जा सकी है। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए यह भर्ती प्रक्रिया पूरी कराई गई थी। स्टाफ की कमी से जूझ रहे अस्पतालों को राहत मिलने की उम्मीद थी लेकिन विभागीय जिम्मेदारों ने खामोशी की चादर ओढ़ ली है। चयनित अभ्यर्थी लगातार इसके लिए सीएमओ कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के तहत जिले में करीब चार माह पहले एएनएम की नियुक्ति के लिए आवेदन मांगे गए थे। इसी क्रम में 55 एएनएम की चयन प्रक्रिया तीन महीने पहले पूरी कराई गई थी। कोरोना काल में टीकाकरण के लिए की गई इस नियुक्ति का कोई लाभ स्वास्थ्य विभाग को नहीं मिल पा रहा है। सभी चयनित अभ्यर्थी शैक्षणिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन के बाद भी तैनाती का इंतजार कर रहे हैं। चयनित एएनएम विभाग की मनमाना कार्य प्रणाली से परेशान हैं। इनका आरोप है सीएमओ कार्यालय इसको लेकर गंभीर नहीं हैं। पूछने पर कोई स्पष्ट जवाब भी नहीं मिल रहा है। सीएमओ से मिलने का लगातार प्रयास किया जा रहा है लेकिन वह आफिस में बहुत कम बैठते हैं।

सीएमओ ने साध ली है चुप्पी

एसीएमओ डा. फखरेयार हुसैन ने कहा कि नए चयनित एएनएम की नियुक्ति के बाद उनका सत्यापन भी करा लिया गया है। सभी अभिलेख सत्यापित हैं और इनकी तैनाती होने से टीकाकरण व अन्य कार्य में सहयोग लिया जा सकेगा। इस पूरे प्रकरण से सीएमओ को अवगत करा दिया गया है।

नए चयनित 55 एएनएम की तैनाती न होने से एकल एएनएम वाले सब सेंटरों पर काफी समस्या है। खासकर जिन क्षेत्रों की जनसंख्या अधिक हैं, वहां एक एएनएम को कार्य करने में काफी परेशानी हो रही है। चयनित एएनएम की तैनाती शीघ्र कराई जाए ताकि वर्कलोड से राहत मिल सके। कोरोना टीकाकरण, आरआई व मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम भी चल रहा है, ऐसे में स्टाफ की कमी की वजह से समस्या और बढ़ गई है।

संजना पटेल, अध्यक्ष, एएनएम संघ, बस्ती

——-

चुनाव आदि के चलते चयनित एएनएम की ज्वाइनिग को लेकर निर्णय नहीं हो सका है। शीघ्र ही इस बारे में विचार कर चयनित सभी 55 एएनएम की ज्वाइनिग करा दी जाएगी।

डा. चंद्रशेखर, सीएमओ बस्ती