Basti News: नई बस्ती वार्ड-7 का हाल-बेहाल, पांच हजार की आबादी झेल रही समस्या

8

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

यूपी की जनता को खुशहाल बनाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने तमाम जन कल्याणकारी योजनाएं चलाईं, जिससे लोग लाभान्वित भी हो रहे हैं। हर परिवार को आवास मिले और हर एक व्यक्ति को शुद्ध पानी मिले, सड़क बेहतर हो इस पर विशेष जोर दिया जा रहा है। जब बात प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र की हो तो फिर क्या कहने। लेकिन क्या आपको मालूम है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक ऐसी भी बस्ती है जहां आज भी शुद्ध पानी मयस्सर नहीं हो पा रहा है।

विकास की गंगा भले ही प्रदेश में बह रही हो लेकिन यहां के लिए केवल दूर की ढोल की तरह से ही है। यही नहीं जब स्थानीय लोग अपनी समस्या को लेकर पार्षद के पास पहुंचते हैं तो पार्षद कहते हैं कि क्या तुमने हमको वोट दिया था? जब हमको वोट नहीं दिए हो तो हम तुम्हारी समस्या क्यों सुनें? आइए हम आपको उस नई बस्ती वार्ड में लेकर चलते हैं।

समस्याओं को लेकर लोगों ने रखी बात
नगर निगम वाराणसी के वार्ड 7 नई बस्ती। रिपोर्टर नई बस्ती वार्ड के हुकुलगंज लेबर मंडी से लेकर केशव विहार कॉलोनी के बीच मिले स्थानीय लोगों से क्षेत्र में हुए विकास कार्यों की जानकारी ली। इस दौरान लोगों में नाराजगी देखने को मिली। स्थानीय लोगों ने सीवर की बदहाल व्यवस्था, शुद्ध पेयजल की अनापूर्ती, मोहल्लों में फैली गंदगी, खराब पड़े हैंडपंप के बारे में खुलकर बताया।

कॉलोनी में सीवर पाइप डालने के बाद भूल गए
स्थानीय पार्षद पर आरोप लगाते हुए लोगों ने कहा कि भाजपा पार्षद जय सोनकर का सीधा कहना होता है कि हमको वोट दिए हो कि हम सुनें। नई बस्ती सीवर से सटी कॉलोनी केशव विहार की बात करें तो इस कॉलोनी में सीवर पाइप डालने के लिए सड़क की खोदाई की गई थी। जिसमें पाइप डालने के बाद सड़क को किसी तरह पाट कर छोड़ दिया गया। इस कालोनी के लोग आज तक सड़क के लिए गुहार लगा रहे हैं लेकिन न तो पार्षद सुनते हैं और न ही विभाग।

विकास यहां से कोसों दूर
कोहराना गली मे जाम सीवर को लेकर आए दिन झगड़ा होता है और दुर्गंध के कारण लोगों का जीना दूभर हो गया है। बात अगर पाल बस्ती की करें तो इस क्षेत्र में इंटर लॉकिंग सड़क का निर्माण होना था, लेकिन वो भी नहीं हुआ। स्थानीय लोगों के मुताबिक इस क्षेत्र में बरसात के दिनों में घुटने तक पानी भर जाता है और पैदल चलना भी मुहाल हो जाता है। इसी क्षेत्र में दो हैंडपंप भी खराब पड़े हैं। हैंडपंप का हाल बताएं तो इस पूरे वार्ड में कई स्थानों पर लगे हैंडपंप खराब पड़े हैं। कई मोहल्लों में पानी की सपलाई नहीं है और जहां है भी वहां पानी पीने योग्य नहीं। ऐसे में इस चिलचिलाती धूप और गर्मी में लोगों की प्यास कैसे बुझे यह बड़ा प्रश्न है।

पांच हजार की है आबादी
नई बस्ती वार्ड में हुकुलगंज लेबर सट्टी, पांडेयपुर का कुछ क्षेत्र, पहड़िया पंचकोसी मार्ग का कुछ क्षेत्र, नई बस्ती, आवास विकास, पाल बस्ती, कोहरान, रामेष्ट नगर क्षेत्र है। पार्षद के अनुसार यहां करीब 25 हजार की आबादी रहती है।

खुद करते हैं सफाई
केशव नगर कॉलोनी निवासी सुबेदार यादव ने बताया कि कॉलोनी के ठीक सामने उनकी दुकान है, जिसके पास नगर निगम कभी कूड़ नहीं उठाता। सभी दुकानदार प्रतिदिन कूड़ा खुद से उठाते हैं और दुकान के बाहर सड़क तक खुद से झाड़ू लगाकर सफाई करते हैं। पार्षद से शिकायत की पर सुनवाई नहीं हुई। स्थानीय भाजपा पार्षद जय सोनकर ने बताया कि लोग गलत आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कुछ काम अभी भी बाकी हैं उन्हें जल्द पूरा करने का प्रयास करूंगा। समस्याओं का भी जल्द निस्तारण किया जाएगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.