Basti news: ग्रामीण क्षेत्रों में 46080 रुपये वार्षिक आय वाले अनुसूचित जाति के लोग योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं

27

बस्ती  न्यूज़ डेस्क:  अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम अनुसूचित जाति के आर्थिक उत्थान के लिए राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएं चला रहा है। यह जानकारी डीएम सौम्या अग्रवाल ने दी। है। ग्रामीण क्षेत्रों में 46080 रुपये और शहरी क्षेत्रों में 56460 रुपये वार्षिक आय वाले अनुसूचित जाति के लोग योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।

बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के तहत एक राष्ट्रीयकृत बैंक से 1.5 लाख तक की परियोजनाओं को एक राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा अनुमोदित किया जाता है ताकि एक पात्र अनुसूचित जाति के व्यक्ति को उद्योग या व्यवसाय चलाने में सक्षम बनाया जा सके, जिसमें 10,000 रुपये अनुदान के रूप में दिए जाते हैं। शहरी क्षेत्र में दुकान निर्माण योजना के लिए अनुसूचित जाति के जिन लोगों के पास 13.30 वर्ग मीटर व्यावसायिक भूमि है, उन्हें निर्माण के लिए 58500 रुपये और 19500 रुपये दो किस्तों में दिए जाते हैं। इस राशि में 78 हजार रुपये, 10 हजार रुपये सब्सिडी और 68 हजार रुपये बिना ब्याज के देय हैं। लॉन्ड्री एवं ड्राईक्लीनिंग योजना के तहत दो लाख 16 हजार एक लाख देय हैं। इसमें एक लाख अनुदान और शेष राशि बिना ब्याज के देय है।