Basti News: सोने की चेन छीनने वाला इनामी लुटेरा पुलिस एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार

32

Basti News: एसपी ने कहा, इसपर पहले से ही 14 मुकदमें दर्ज हैं. इसके संबंध में हम ऐसी कार्रवाई करने वाले हैं कि जमानत न होने पाए और इसने अपराध करके जो भी संपत्ति बनाई है उसे कुर्क किया जाए.

Basti News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अपराधियों पर यूपी पुलिस की गोली खूब कहर बरपा रही है. बस्ती पुलिस ने पिछले 4 दिन में 6 से अधिक एनकाउंटर (Police Encounter) में 10 अपराधियों को पकड़कर सलाखों के पीछे भेज दिया है. महिलाओं के गले से सोने की चेन छीनने वाले शातिर लुटेरे को एक मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. अपराधियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत प्रभारी निरीक्षक थाना गौर मय पुलिस बल, प्रभारी स्वाट टीम और प्रभारी सर्विलांस सेल की संयुक्त कार्रवाई में लूट की घटना में वांछित चल रहे रुपये 25,000 रुपये के इनामी अभियुक्त सुरेंद्र जायसवाल गिरफ्तार किया गया है. 

क्या क्या बरामद हुआ
उसके पास से एक तमंचा 12 बोर, दो खोखा 12 बोर और एक जिन्दा कारतूस 12 बोर बरामद हुआ है. पुलिस मुठभेड़ के दौरान आरक्षी राहुल मिश्र के दाहिने हाथ में गोली लगी और अभियुक्त सुरेंद्र जायसवाल के बाएं पैर में गोली लगी जिन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गौर में प्राथमिक उपचार कराने के बाद इलाज के लिए सदर अस्पताल बस्ती भेजकर थाना गौर पुलिस कानूनी कार्रवाई कर रही है.

पूछताछ में क्या बताया
पूछताछ में अभियुक्त सुरेंद्र जायसवाल ने बताया कि वह क्षेत्र में घूम-घूम कर महिलाओं के गले से सोने की चेन छीन लेता है और वे जबरदस्ती उनके गहने लूटकर भाग जाते हैं. छीने हुए चेन और लूटे हुए गहनों को बेचे देते हैं और उससे प्राप्त पैसों से ऐशो-आराम की जिन्दगी व्यतीत करते हैं. आज दोबारा वो इसी क्षेत्र में लूट करने के उद्देश्य से घूम रहा था कि पुलिस टीम के साथ मुठभेड़ के बाद पकड़ लिया गया.

कैसे हुई पहचान
एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि 9 अप्रैल की दोपहर को थाना गौर की एक वृद्ध महिला से एक व्यक्ति ने चेन लूट की घटना को अंजाम दिया था. इस संबंध में बस्ती से पूर्व में जेल भेजे गए अपराधियों की फोटो उस महिला को दिखाई गई तो उसने चेन लूट करने वाले की पहचान सुरेन्द्र जायसवाल थाना खजनी जनपद गोरखपुर के रुप में की. सुरेन्द्र जायसवाल को पहले भी जनपद बस्ती पुलिस द्वारा जेल भेजा गया था.

ऐसी कार्रवाई करेंगे कि जमानत न हो
एसपी ने बताया कि, उसी क्रम में जब हमारी थाना गौर और स्वाट की टीम सुरेन्द्र जायसवाल की धरपकड़ में लगी हुई थी. रात करीब एक बजे उसके साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई जिसमें सुरेन्द्र के पैर में गोली लगी. उसका इलाज सदर अस्पताल बस्ती में चल रहा है. वहां वो खतरे से बाहर है. इसपर पहले से ही अलग अलग थानों में 14 मुकदमें दर्ज है. इसके संबंध में हम लोग ऐसी कार्रवाई करने वाले हैं कि इसकी जमानत न होने पाए और इसने अपराध करके जो भी संपत्ति बनाई है उसको कुर्क किया जाए.