प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलरामपुर में 9,800 करोड़ रुपये की लागत से तैयार सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का किया उद्घाटन

37

बलरामपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलरामपुर में 9,800 करोड़ रुपये की लागत से तैयार सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का उद्घाटन किया। इस दौरान उ नरेंद्र मोदी ने कहा,”मैं आज देश के उन वीर योद्धाओं को श्रद्धांजलि दे रहा हूं जिनका 8 दिसंबर को हेलिकॉप्टर में निधन हो गया था। भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत जी का जाना हर भारतप्रेमी, हर राष्ट्रभक्त के लिए बहुत बड़ी क्षति है|

जनरल बिपिन रावत जितने जांबाज थे, सेनाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जितनी मेहनत कर रहे थे, देश उसका साक्षी रहा है। बिपिन रावत आने वाले दिनों में अपने भारत को नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ते हुए देखेंगे। भारत दुख में है लेकिन दर्द सहते हुए भी हम ना अपनी गति रोकते हैं और ना प्रगति|

प्रधानमंत्री ने कहा,”यूपी के सपूत देवरिया के रहने वाले ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह जी का जीवन बचाने के लिए डॉक्टर जी-जान से लगे हुए हैं। मैं मां पाटेश्वरी से उनके जीवन की रक्षा की प्रार्थना करता हूं। देश आज वरुण सिंह जी के परिवार के साथ है, जिन वीरों को हमने खोया है, उनके परिवारों के साथ है|

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा,”सरयू नहर परियोजना 40 साल से लंबित थी, केवल ये ही योजना नहीं बल्कि कई योजनाएं लंबित थीं। जिस तरह से सरयू नहर परियोजना पूरी हुई है उस तरह से देश में लगभग 63 परियोजना पूरी चुकी हैं या पूरी होने की कगार पर हैं|

ये योजना 25 लाख किसानों के जीवन में परिवर्तन लाने वाली होगी। यहां 25 लाख टन अतिरिक्त अनाज पैदा होगा। 9 ज़िलों के किसानों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए इस योजना के माध्यम से उनके घर में हर साल 50 हज़ार करोड़ रुपए आएंगे|

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,ने कहा,’ पूर्वी उत्तर प्रदेश आज़ादी के बाद से लगातार उपेक्षित था। इस क्षेत्र में लोगों के मन में राष्ट्रीयता का भाव तो था लेकिन विकास के प्रति जज़्बे को पंख नहीं मिल पा रहे थे| 1972 में सरयू नहर परियोजना को मंजूरी मिली थी। लेकिन तब से ये परियोजना पूरी नहीं हो पाई।

कारण था, तत्कालीन सरकार, चाहे वो कांग्रेस, सपा या बसपा की रही हो, लेकिन किसी ने रुचि नहीं ली। नतीजा 40 वर्ष में परियोजना आधी भी पूरी नहीं हो पाई थी| जिन क्षेत्रों ने कभी सपना भी नहीं देखा था कि उन्हें सिंचाई के लिए पानी मिलेगा। ऐसे क्षेत्रों में आज सरयू नहर परियोजना के माध्यम से किसानों को एक ऐतिहासिक सौगात मिली है। लाखों किसानों के सपने सच हुए हैं|

Read Also: अकाउंट में जमा हुआ इतना पैसा, PF खाता धारकों के लिए है GOOD NEWS