दंपती से हुई लूटपाट का पर्दाफाश करते हुए तीन बदमाशों को कस्बे के पशु अस्पताल के पास से गिरफ्तार कर लिया।

34

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बस्ती। एंटी नारकोटिक्स टीम के सहयोग से परशुरामपुर पुलिस ने दंपती से हुई लूटपाट का पर्दाफाश करते हुए तीन बदमाशों को कस्बे के पशु अस्पताल के पास से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से लूट के 14 हजार रुपये, लूट में इस्तेमाल बाइक, दो तमंचा कारतूस बरामद किया। घटना को अंजाम देने में यूपी-112 पर तैनात होमगार्ड के बेटे सहित तीन बदमाश गिरफ्तार किए गए। जिनमें हरिनारायन सिंह निवासी सिरसहवा थाना परशुरामपुर, सौरभ सिंह निवासी सिरसहवा थाना परशुरामपुर और प्रिंस सिंह निवासी कोहराये थाना परशुरामपुर शामिल हैं। एएसपी दीपेंद्र नाथ चौधरी ने बताया कि सीओ हर्रैया शेषमणि उपाध्याय की इस खुलासे में सबसे अहम भूमिका रही।


परशुरामपुर थानाक्षेत्र के गन्नीपुर निवासी जयप्रकाश वर्मा की पत्नी एएनएम हैं। 18 जून को दी गई तहरीर में बताया कि 14 जून को वह अपनी पत्नी को साथ लेकर बाइक से नन्दनगर चौरी जा रहे थे। शाम समय करीब 07.30 बजे रास्ते में कुसमौर व जटवलिया गांव के पास पीछे से बाइक सवार दो व्यक्ति पहुंचे और रास्ता पूछने के बहाने रोका। रुकते ही बाइक की चाबी निकालकर तमंचा दिखाने लगे। जय प्रकाश वर्मा के पास रखे 12 सौ रुपये व उनकी पत्नी के पास रखे 12 हजार रुपये नकदी व जेवरात लूट कर भाग गए।

इस तरह हुआ खुलासा
– पुलिस की मानें तो लूट करके भागते समय बदमाशों की बाइक बिजली के खंभे से टकरा गई। जिसमें दोनों चोटिल हुए। मगर दोनों फिर बाइक उठाकर दोनों भाग गए। लूट से पहले इन लोगों ने बाइक का नंबर प्लेट निकालकर डिकी में रख लिया था। जो खंभे में बाइक टकराने के दौरान वहीं गिर गया था। जो संयोग से पुलिस के हाथ लग गया। उस नंबर के आधार पर पुलिस टीम ने पता किया तो वह बाइक लक्ष्मी नारायण के नाम की निकली। पुलिस ने लक्ष्मीनारायण से संपर्क किया तो उसने बताया कि साल भर पहले दरोगा पांडेय को बेच दिया है। दरोगा पांडेय से जानकारी लेने पर पता चला कि उसने छह महीने पहले झिनकान पाठक को बेच दिया था। झिनकान पाठक ने बताया कि उसने बाइक राजेश सिंह को बेच दी है जो होमगार्ड है। पुलिस ने होमगार्ड राजेश सिंह से पूछा तो उसने बताया कि वह बाइक उसका बेटा सौरभ प्रयोग करता है। इस तरह पुलिस ने सौरभ को गिरफ्त में लिया। सौरभ के जरिए हरिनारायण सिंह का नाम सामने आया। दोनों को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो पता चला कि लूट का सारा माल प्रिंस सिंह के पास दोनों ने रखा है। लूट का माल रखने के आरोप में प्रिंस सिंह को गिरफ्तार कर लूट के 14 हजार रुपये व अन्य सामान बरामद किया।
———–
इस टीम को मिली कामयाबी
थानाध्यक्ष परशुरामपुर अरविन्द कुमार शाही, प्रभारी एंटी नारकोटिक्स टीम रोहित उपाध्याय, प्रभारी चौकी सिकंदरपुर पवन मिश्रा, एसआई सुरेश कुमार, अजय सिंह थाना परशुरामपुर, एसआई शशिकान्त, कांस्टेबल सतेन्द्र सर्विलांस टीम, हेड कांस्टेबल महेन्द्र यादव, कुलदीप यादव, कांस्टेबल शिवचरन चौहान, रवि प्रताप सिंह एंटी नारकोटिक्स टीम, गुलशन कुमार, राजकुमार, सुनील कुमार थाना परशुरामपुर शामिल रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.