Mulayam Yadav in Ukraine : यूक्रेन में फंसे बस्ती के छात्र मुलायम का परिवार हुआ चिंतित

10

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Mulayam Yadav in Ukraine : यूक्रेन में फंसे बस्ती के छात्र मुलायम का परिवार हुआ चिंतित

छावनी (बस्ती)। यूक्रेन में फंसे बस्ती के छात्र मुलायम सिंह यादव की कुशलता को लेकर परिवार चिंतित है। मुलायम सिंह यादव बस्ती के छावनी थाना क्षेत्र स्थित रूपगढ़ के रहने वाले हैं। एमबीबीएस द्वितीय वर्ष के छात्र के तौर पर चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च में देनी है। उनका परिवार पिछले एक सप्ताह से वापसी का हवाई टिकट पाने का प्रयास कर रहा था, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई है। अब वहां पर हुए हमले के चलते हवाई उड़ानें रद्द हो गई हैं।

छावनी क्षेत्र के रूप गढ़ निवासी मुलायम सिंह यादव के पिता सत्य प्रकाश यादव गांव में इंटर कालेज का संचालन करते हैं। मुलायम की प्रारंभिक शिक्षा हर्रैया में हुई। इलाहाबाद से इंटर करने के बाद एमबीबीएस करने के लिए मुलायम सिंह 14 दिसंबर 2020 को यूक्रेन रवाना हो गए। वह टर्नोपिल नेशनल मेडिकल यूनवर्सिटी यूक्रेन में एमबीबीएस के तीन सेमेस्टर की परीक्षा दे चुके हैं। चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च 2022 में होनी थी। छह वर्ष के कोर्स में कुल 12 सेमेस्टर की पढ़ाई होनी है।

वह अपनी यूनिवर्सिटी से एक किमी दूर इकोनामिक्स हास्टल नियर लिविसिका चार मेडीहोल्ड टर्नोपिल में रहते हैं। मुलायम सिंह यादव के बैच नंबर 234 में 10 भारतीय छात्र शामिल हैं। इस विश्वविद्यालय में भारत के करीब 800 छात्र मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। इनके बैच में उत्तर प्रदेश के दो छात्र हैं, जिसमें एक प्रयागराज का है। केरल के चार, हरियाणा के दो, छत्तीसगढ़ और बिहार के एक-एक छात्र शामिल हैं। छात्र मुलायम सिंह यादव ने बताया कि 23 को क्लास नहीं चली और 24 फरवरी को क्लास बंद करने की घोषणा कर दी गई है। विश्वविद्यालय यूक्रेन की राजधानी कीव से 600 किमी की दूरी है।

मुलायम सिंह यादव के पिता सत्य प्रकाश यादव ने कहा कि भारत सरकार अपने देश के छात्रों को वापस लाने का प्रयास करे। घर में माता, दादी, रिश्तेदार व गांव के लोग एक दूसरे से मुलायम के सकुशल भारत वापसी दुआ कर रहे हैं। माता रेखा ने कहा चार बेटे में वह सबसे बड़ा है। डॉक्टर बनना उसका सपना है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.