एलआईसी न्यू बीमा बचत प्लान क्या है,जाने (Plan No: 816) LIC’s New Bima Bachat Plan

12

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

एलआईसी न्यू बीमा बचत योजना

एलआईसी की नई बीमा बचत योजना एक ट्रेडिशनल बचत योजना है, जो पालिसी अवधि के दौरान विशेष अवसरों पर पैसों का भुगतान कर  इस योजना को ख़ास बनाता है।

इस प्रकार यह योजना आपको बीमा कवर, बचत और कैश बैक की तरलता के साथ ट्रिपल कॉम्बो देता है। एक बार प्रीमियम भरकर आप यह प्लान खरीद सकते हैं। कंपनी अपने प्रदर्शन के आधार पर आपके पालिसी अवधि के अंत में लॉयल्टी एडीशन्स जोडती है।

एलआईसी की न्यू बीमा बचत योजना काम कैसे करता है?

पालिसी  खरीदते वक्त पालिसी धारक बीमा की रकम और पालिसी की अवधि का चुनाव करता है बीमा की रकम और आपकी उम्र के आधार पर आपको एक प्रीमियम अदा करना होगा आपके पास पालिसी की अवधि चुनने के तीन विकल्प उपलब्ध हैं, 9 वर्ष, 12 वर्ष और 15 वर्ष

इन पालिसी अवधि के सर्वाइवल (जीवन) लाभ इस प्रकार हैं,

  • 9 वर्ष की पालिसी अवधि के लिए: 3 और 6 वर्ष के अंत में  बीमित रकम का 15% देय होगा बीमित रकम का कुल 30% देय होगा
  • 12 वर्ष की पालिसी अवधि के लिए: 3, 6 और 9 वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15% देय होगा बीमित रकम का कुल 45% देय होगा
  • 15 वर्ष की पालिसी अवधि के लिए: 3, 6, 9 और 12 वर्ष के अंत में बीमित रकम का 15% देय होगा बीमित रकम का कुल 60% देय होगा

अगर पालिसी धारक अपने पूरे पालिसी अवधि तक जीवित रहता है तो, उसके द्वारा भरा हुआ एकमुश्त(सिंगल) प्रीमियम और लॉयल्टी एडीशन्स पालिसी धारक को देय होगा इस लाभ को मैचुरिटी(परिपक्वता) लाभ कहा जाएगा

अगर पालिसी धारक की मृत्यु पालिसी अवधि के दौरान होती है तो, उसे मृत्यु लाभ इस प्रकार मिलता है

अगर पालिसी धारक की मृत्यु पालिसी अवधि के 5 साल के भीतर होती है, तो नॉमिनी को पूरा बीमित रकम दिया जाएगा भले ही उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ पहले ही क्यूँ न दिया गया हो

अगर पालिसी धारक की मृत्यु पालिसी अवधि के 5 साल के बाद होती है, तो नॉमिनी को पूरा बीमित रकम, लॉयल्टी एडीशन्स के साथ दिया जाएगा भले ही उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ पहले ही क्यूँ न दिया गया हो

यहाँ हम उदहारण के साथ आपको समझायेंगे कि एलआईसी न्यू बीमा बचत योजना काम कैसे करता है:

उदहारण: मान लीजिए अभी जिसकी उम्र 35 वर्ष है, 12 वर्ष के लिए 5 लाख(बीमित रकम) की एक पालिसी खरीदता है इसके लिए वह Rs. 3,64,415 का एक सिंगल(एकमुश्त) प्रीमियम अदा करता है कर मिलाकर यह रकम Rs. 3,78,081 हो जाती है

सिनेरिओ(परिदृश्य)1: अगर अभी पालिसी अवधि के अंत तक जीवित रहता है तो,

चूँकि, यह 12 वर्ष की पालिसी है, तो उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ का भुगतान 3,6 और 9 वर्ष के अंत में इस प्रकार मिलेगा,

  • तीसरे पालिसी वर्ष में: बीमित रकम का 15% = Rs.5,00,000 का 15% = Rs. 75,000
  • छठें पालिसी वर्ष में: बीमित रकम का 15% = Rs. 5,00,000 का 15% = Rs. 75,000
  • नवें पालिसी वर्ष में: बीमित रकम का 15% = Rs. 5,00,000 का 15% = Rs. 75,000

इसके साथ ही, 12 वर्ष बाद जब प्लान मैच्योर(परिपक्व) हो जाता है, तो पालिसी धारक द्वारा भरा हुआ एकमुश्त प्रीमियम(Rs.3,64,415), लॉयल्टी एडीशन्स के साथ उसे वापस कर दिया जाता है

सिनेरिओ(परिदृश्य)2: अगर पालिसी खरीदने के 7 वर्ष बाद अभी की मृत्यु हो जाती है तो,

इस सिनेरिओ में, उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ का भुगतान इस प्रकार मिलेगा,

  • तीसरे पालिसी वर्ष में: बीमित रकम का 15% = Rs.5,00,000 का 15% = Rs. 75,000
  • छठें पालिसी वर्ष में: बीमित रकम का 15% = Rs. 5,00,000 का 15% = Rs. 75,000

अतिरिक्त रूप से, उसे 5 लाख की बीमित रकम का भुगतान किया जाएगा भले ही उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ का भुगतान पहले ही क्यूँ न दिया गया हो अब पालिसी ने 5 साल पूरा किया है तो, जमा हुआ लॉयल्टी एडीशन्स का भुगतान भी उसे किया जाएगा

एलआईसी की न्यू बीमा बचत योजना का लाभ:

मैच्युरिटी(परिपक्वता) लाभ: मैचुरिटी पर पालिसीधारक को उसके द्वारा भरा गया एकमुश्त प्रीमियम और जमा हुआ लॉयल्टी एडीशन्स उसे वापस दिया जाता है।(लॉयल्टी एडीशन्स हमेशा बीमा कंपनी के प्रदर्शन और उसे मिलनेवाले प्रॉफिट पर निर्भर करता है।)

मृत्यु लाभ: अगर पालिसीधारक की मृत्यु पालिसी अवधि के दौरान होती है, तो उसे बीमित रकम के साथ उसकी मृत्यु तक जमा लॉयल्टी एडीशन्स भी वापस दिया जाता है, भले ही उसे सर्वाइवल(जीवन) लाभ का भुगतान पहले ही क्यूँ न दिया गया हो

सर्वाइवल(जीवन) लाभ: पालिसी के तीसरे वर्ष से बीमित रकम के 15% का भुगतान शुरू हो जाता है और हर तीसरे वर्ष में यह भुगतान मिलता रहता है अलग अलग पालिसी अवधि में मिलनेवाले भुगतान की अवधि इस प्रकार है,

  • 9 वर्ष की पालिसी अवधि: तीसरे और छठें पालिसी वर्ष में
  • 12 वर्ष की पालिसी अवधि: तीसरे, छठें  और  नवें पालिसी वर्ष में
  • 15 वर्ष की पालिसी अवधि: तीसरे, छठें, नवें और बारहवें पालिसी वर्ष में

लॉयल्टी एडीशन्स : कंपनी अपने प्रदर्शन के आधार पर आपकी पालिसी के मैच्योर(परिपक्व) होने पर या मृत्यु होने पर लॉयल्टी एडीशन्स देती है। लेकिन इसके लिए शर्त है कि आप कम से कम 5 वर्ष योजना में बने हों।

Best LIC Plans List for 2022

LIC PoliciesPlan TypeEntry AgeMaximum Maturity AgePolicy TermSum AssuredStatus
LIC Tech Term Plan Term Assurance Plan18 years-65 years80 years10-40 yearsMin-Rs.50,00,000 Max- No upper LimitActive
LIC Jeevan UmangWhole Life Insurance90days(completed)-55 years100 years100 years minus(-) the age at entryMin- Rs. 2,00,000 Max- No upper LimitActive
LIC Jeevan AmarTerm Assurance Plan18 years- 65 years80 years10 years-40 yearsMin-Rs.25,00,000 Maximum- No upper limitActive
LIC Money Back 25  yearsMoney Back Policy13 years-45 years70 years25 yearsMin-Rs.1,00,000 Max- No upper limitActive
LIC New Jeevan AnandEndowment Plan18 years- 50 years75 years15 years-35 yearsMin- Rs.1,00,000 Max- No upper limitActive

Disclaimer: Policybazaar does not endorse, rate, or recommend any particular insurer or insurance product offered by an insurer. The tax benefit is subject to changes in tax laws. *Standard T&C Apply

Get real time updates directly on you device, subscribe now.