एंबुलेंस में गूंजी किलकारी, जच्च-बच्चा स्वस्थ

14

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आपातकालीन सेवा 102 नंबर एंबुलेंस महिलाओं के लिए वरदान साबित हो रही है। सोमवार की रात सीएचसी गौर ले जाते समय प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला ने रास्ते में ही एंबुलेंस में शिशु को जन्म दिया। एंबुलेंस कर्मियों ने सुरक्षित प्रसव कराकर जच्चा-बच्चा दोनों की जान बचाई। दोनों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। पूरी तरह स्वस्थ्य हैं।

गौर ब्लॉक बावनपारा निवासी भीम की पत्नी सोनी देवी (26) को रविवार की रात करीब आठ बजे प्रसव पीड़ा हुई। परिजनों ने आशा के माध्यम से एंबुलेंस बुलाया। कुछ ही देर में पहुंची 102 एंबुलेंस के इमरजेंसी मेडिकल टेक्निशियन (ईएमटी) लवकुश और ड्राइवर सुरेन्द्र कुमार तैनात थे। पीड़िता के घर से गौर सीएचसी की दूरी 19 किलोमीटर है। एंबुलेंस से सीएचसी गौर ले जाते समय रास्ते में सोनी प्रसव पीड़ा से कराहने लगी। हालत नाजुक देख ईएमटी ने एंबुलेंस को रोककर आशा कार्यकर्ता व ड्राइवर की मदद से सुरक्षित प्रसव कराया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.