Keshav Prasad Maurya Degree : डिप्टी सीएम केशव मौर्य की डिग्री के मामले में तीन फरवरी को सुनवाई

11

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Keshav Prasad Maurya Degree : डिप्टी सीएम केशव मौर्य की डिग्री के मामले में तीन फरवरी को सुनवाई

याची का आरोप है कि हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयागराज की प्रथमा, मध्यमा, विशारद डिग्री हाईस्कूल के समकक्ष मान्य नहीं है। केशव प्रसाद ने इस डिग्री के आधार पर आगे की शिक्षा ग्रहण की है।

चुनावी माहौल में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद की डिग्री के मामले में तीन फरवारी को सुनवाई होगी। अर्जी में एसीजेएम प्रयागराज के चार सितंबर 2021 को पारित आदेश को चुनौती दी गई है। मजिस्ट्रेट के समक्ष फर्जी डिग्री की शिकायत करते हुए एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी करने की मांग की गई थी।

मजिस्ट्रेट ने अर्जी खारिज कर दी थी। हाईकोर्ट में इसी आदेश को चुनौती दी गई है। याची का आरोप है कि हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयागराज की प्रथमा, मध्यमा, विशारद डिग्री हाईस्कूल के समकक्ष मान्य नहीं है। केशव प्रसाद ने इस डिग्री के आधार पर आगे की शिक्षा ग्रहण की है।

चुनाव से पहले बढ़ेगी मुसीबत? केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, निचली अदालत के आदेश को चुनौती

Keshav Prasad Maurya Degree case: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav) के लिए सियासी माहौल के बीच यूपी (Uttar Pradesh News) के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री का मामला अब हाईकोर्ट तक जा पहुंचा है. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya News) की डिग्री को लेकर मजिस्ट्रेट के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है, जिस पर 3 फरवरी को सुनवाई है. मजिस्ट्रेट के समक्ष फर्जी डिग्री की शिकायत करते हुए एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी करने की मांग की गई थी.

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav) के लिए सियासी माहौल के बीच यूपी (Uttar Pradesh News) के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री का मामला अब हाईकोर्ट तक जा पहुंचा है. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya News) की डिग्री को लेकर मजिस्ट्रेट के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है, जिस पर 3 फरवरी को सुनवाई है. मजिस्ट्रेट के समक्ष फर्जी डिग्री की शिकायत करते हुए एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी करने की मांग की गई थी.

दरअसल, हाईकोर्ट में दायर अर्जी में एसीजेएम प्रयागराज के 4 सितंबर 21 के आदेश को चुनौती दी गई है. उस आदेश में मजिस्ट्रेट ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी करने से इनकार कर दिया था और कोर्ट ने धारा 156 (3) दंड प्रक्रिया संहिता के तहत दाखिल अर्जी खारिज कर दी थी.

यह अर्जी भाजपा से निष्कासित दिवाकर नाथ त्रिपाठी की ओर से दाखिल की गई है. याचिकाकर्ता का आरोप है कि यूपी बोर्ड के सचिव ने बताया है कि हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयागराज की प्रथमा, मध्यमा, विशारद डिग्री हाई स्कूल के समकक्ष मान्य नहीं है. केशव मौर्य ने इस डिग्री के आधार पर आगे की शिक्षा ग्रहण की है. जो गैर कानूनी है और अपराध की श्रेणी में आती है. जस्टिस राजीव गुप्ता की एकल पीठ में सुनवाई हुई.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.