मोबाइल एप से मिलेगी गर्भवती व नवजात की जानकारी

13

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

हर्रैया टाइम्स

Basti news | गर्भवती व नवजात के बारे में जानकारी अब रजिस्टर पर नहीं, बल्कि मोबाइल एप पर के जरिये उपलब्ध होगी। इसके लिए शासन ने मंत्र नामक एप लांच किया है।

पिछले दिनों एएनएम प्रशिक्षण केंद्र में प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों, ब्लाक कार्यक्रम प्रबंधकों, नर्स मेंटर व जिला महिला अस्पताल की नर्सो को एप से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। एप का इस्तेमाल शुरू होने के बाद सारी जानकारी एप के जरिये ही चिकित्सा कर्मियों को मिलेगी। इससे जहां एक ओर पारदर्शिता आएगी। एप पर डाटा अपलोड करने का प्रशिक्षण यूनिसेफ के मंडलीय पर्यवेक्षक सुरेंद्र शुक्ला द्वारा दिया जा रहा है। गर्भवती की समस्त स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट एप पर अपलोड की जाएगी । प्रसव के उपरांत बच्चे के संबंध में जानकारी भी अपलोड की जाएगी। इससे जच्चा- बच्चा के स्वास्थ्य ट्रैकिग में पारर्दिशता आएगी।

एप के जरिये ही किया जाएगा रेफर : एसीएमओ डा. सीके वर्मा ने बताया कि प्रसव के दौरान गर्भवती को अगर जटिलता होती है तो उससे संबंधित जानकारी मंत्र एप में फीड कर जिला स्तरीय चिकित्सालय या मेडिकल कालेज रेफर किया जाएगा। प्रसव के बाद नवजात में होने वाली जटिलताओं को एप पर भरने के बाद उसको उच्च स्वास्थ्य इकाइयों पर रेफर किया जाएगा। महिला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आने पर सबसे पहले इस एप के माध्यम से गर्भवती और नवजात का स्वास्थ्य संबंधी सभी डाटा आनलाइन तत्काल भरा जाएगा। अगर कहीं कोई परेशानी आती है तो उसका निराकरण किया जाएगा।

सीएमओ डा. चंद्रशेखर ने कहा कि प्रसव के लिए सीएचसी-पीएचसी पहुंचने पर वहां मौजूद नर्स मेंटर या स्टाफ नर्स गर्भवती के प्रसव की जटिलताओं को एप में भरेगी। नवजात का डाटा भी एप पर भरा जाएगा। जनपद स्तर पर प्रशिक्षण ले चुके स्टाफ सीएचसी-पीएचसी और उप केंद्रों पर तैनात एएनएम, स्टाफ नर्स और नर्स मेंटर को प्रशिक्षण देंगे।

महिला ने एंबुलेंस में बिटिया को दिया जन्म

गुरुवार को 108 नंबर एंबुलेंस में तैनात स्वास्थ्य कर्मियों की तत्परता, कुशलता एवं अनुभव से एक गर्भवती महिला का एंबुलेंस में ही सुरक्षित प्रसव कराया गया। महिला ने एक बिटिया को जन्म दिया।

विकास क्षेत्र विक्रमजोत के रामगढ़ गांव की पूजा गुप्ता पत्नी रवि गुप्ता को दिन में दो बजे के करीब तेज प्रसव पीड़ा हुई। परिवारीजनों ने पूजा को अस्पताल ले जाने के एंबुलेंस बुलवाया। हर्रैया सीएचसी की एंबुलेंस पूजा को लेकर अस्पताल रवाना हुई। अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी हालत बिगड़ने लगी। ईएमटी मनोज कुमार ने रास्ते में ही प्रसव कराने का निर्णय लिया। उन्होंने आशा पूनम तिवारी और पायलट राजू वर्मा की मदद से एंबुलेंस में प्रसव कराया। महिला ने एक बेटी को जन्म दिया। अब जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। एंबुलेंस चालक ने मरीज को हर्रैया सीएचसी पर सुरक्षित पहुंचाया। वहां वह महिला चिकित्सक की देखरेख में हैं। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.