हर्रैया, बस्तीः कवि सम्मेलन में देर रात तक आनन्द लेते रहे श्रोता

8

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

हर्रैया, बस्तीःकवि सम्मेलन में देर रात तक आनन्द लेते रहे श्रोता

हर्रैया, बस्तीः मखौडा मनवर महोत्सव के प्रथम रात्रि कवियों द्वारा अपनी रचनाओं के माध्यम से लोगों का मनोरंजन किया गया। रामायणधर द्विवेदी ने अपनी रचना अंधेरे में तीर चलाना छोडिए सुनाकर खूब वाहवाही लूटी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद हरीश द्विवेदी रहे। महोत्सव के संध्या कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए सांसद ने कहा कि 70 वर्षों से उपेक्षित मखौडाधाम पर्यटन स्थल के रूप में आज विश्व के मानचित्र पर स्थापित हो गया है।

कवि सम्मेलन का शुभारम्भ कविता तिवारी द्वारा दीप प्रज्जवलन एवं मां सरस्वती वन्दना के साथ किया गया। रामायण धर द्विवेदी द्वारा अपनी रचना अंधेरे में तीर चलाना छोडिए, अगर-मगर कर समय बिताना छोडिए सुनाकर खूब वाहवाही लूटी। अभय निर्भीक द्वारा श्रोताओं को वीर रस की रचना सुनाया गया। डॉ. विष्णु सक्सेना ने अपनी श्रृंगार रचना प्यास बुझ जाए तो शबनम खरीद सकता हूं, जख्म मिल जाए तो मरहम खरीद सकता हूं के माध्यम से युवाओं का मनोरंजन किया। इसके अलावा गजेन्द्र प्रियांशु, कविता तिवारी एवं विकास बौखल ने भी अपनी रचना सुनाई।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.