Dubauliya Bajar Basti: गौशाला रमना तौफीर का एसडीएम और बीडीओ ने किया निरीक्षण

0 182

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गौशाला रमना तौफीर का एसडीएम और बीडीओ ने किया निरीक्षण

SDM and BDO inspected Gaushala Ramna Taufir

दुबौलिया Harraiya Times News Service

दुबौलिया ब्लॉक क्षेत्र के रमना तौफीर गांव मे संचालित वृहद गौशाला मे फैली आव्यवस्था और गौशाला मे पशुओ की हो रही मौत की जानकारी होने पर शुक्रवार को एसडीएम हर्रैया सुखबीर सिंह ( SDM Harraiya Sukhbir Singh ) और बीडीओ दुबौलिया श्वेता वर्मा ( BDO Dubaulia Sweta Verma ) ने निरीक्षण किया। गौशाला के परिसर मे जल जमाव और आधा दर्जन पशुओ के बीमार देख मौके पर मौजूद पशुचिकित्को से बीमार पशुओ को सही से इलाज कराने को कहा। गौशाला मे दूषित पानी पीने से हो रही मौत को रोकने के लिए पशुओ के पानी पीने के लिए दस ड्रम की व्यवस्था करने को कहा वंही परिसर से पशुओ की खाद को जेसीबी लगा कर हटवाने को कहा।

जितने जानवर गौशाला मे है उससे कहीं अधिक जानवर गौशाला के बाहर

वही गौशाला के बाहर सैकड़ो की संख्या मे जुटे ग्रामीणो ने विरोध प्रदर्शन किया ग्रामीण का आरोप है। जितने जानवर गौशाला मे है उससे कहीं अधिक जानवर गौशाला के बाहर है। जिससे हम लोगो के खेतो मे लगी धान , उरद, गन्ने की फसल को चौपट कर रहे है। गौशाला की टूटी बाउंड्रीवाल से भी जानवर बाहर भाग जाते है। बाहर घूम रहे जानवरो को भी पकड कर गौशाला मे रखा जाए। एसडीएम ने ग्रामीणो से बात कर जल्द ही गौशाला के बाहर घूम रहे जानवरो को पकड़कर गौशाला मे रखने की बात कही ।

Basti News: समय से इलाज ना होने के कारण 3 दिन में चार गाय की मौत

Basti News Today: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के ड्रीम प्रोजेक्ट पशुपालन अधिकारियों की लापरवाही के कारण फ्लॉप होती नजर आ रही है। बस्ती जिले के रामनातौफिर गौशाला में 3 दिन में चार गाय की मौत (4 Gaay Ki Maut) हो गई। डॉक्टर ने बताया कि गंदा पानी पीने (Ganda Pani) के कारण गायों की मौत हुई है। वहीं उप जिलाधिकारी हरैया सुखबीर सिंह गौशाला का निरीक्षण किया और गौशालाओं की तत्काल रूप से साफ-सफाई कर सुचारू रूप से चलाने का आदेश दिया।

बस्ती जिले के दुबौलिया ब्लॉक रमनातौफ़ीर गांव

बस्ती जिले के दुबौलिया ब्लॉक रमनातौफ़ीर गांव में वृहद गौशाला संरक्षण केंद्र (Gau Sanrakshan Kendra Ramna Taufir) 2019 में 1 करोड़ 20 लाख में तैयार किया गया। इस गौशाला में गायों के रखरखाव के लिए सारी सुविधाएं तैयार की गई।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का सपना था कि इस गौशाला का निर्माण हो जाने से क्षेत्र में छुट्टा पशुओं को पकड़कर इस गौशाला में रखा जाएगा और उनको समय से चारा मिलेगा। समय-समय पर उनकी देख-रेख सही ढंग से होगी, जिससे वह सुरक्षित रहेंगे। लेकिन बस्ती जिले के अधिकारियों और गौशाला में रहने वाले कर्मचारियों की लापरवाही के कारण गौशाला में रहने वाले जानवर गंदा पानी पीने से बीमार हो जा रहे हैं, लेकिन समय से इलाज ना होने के कारण उनकी मौत हो रही है। इस गौशाला में अधिकतर जानवर गंदा पानी पीने से बीमार पड़ गए हैं।

हाल ही में ही लगभग 3 दिन के अंदर चार गायों की मौत हो गई, जिससे ग्रामीणों में काफी नाराजगी देखी गई। ग्रामीणों ने सीधा आरोप लगाया कि बार-बार अधिकारियों को सूचना देने के बावजूद भी गौशाला की देखरेख करने वाले कर्मचारी पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। आए दिन इस गौशाला में रहने वाले पशु भूखे रहते हैं और गंदा पानी पीते हैं जिसके कारण वह बीमार हो जाते हैं, उनकी मौत हो जाती है, और यह मौत देखा नहीं जाता है।

इसे भी पढ़ें : JUNIOR ENGINEER (JE) IN Gurugram : बस्ती, किसान की बेटी ; हरियाणा में जूनियर इंजीनियर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.