Crime News Today:  मुठभेड़ में फायरिंग कांड का आरोपी शूटर गिरफ्तार

10

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Crime News Today:  मुठभेड़ में फायरिंग कांड का आरोपी शूटर गिरफ्तार

आशुतोष पर अंबेडकरनगर व सुल्तानपुर में हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में तीन मुकदमे पहले से दर्ज हैं। 

छावनी पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने मुठभेड़ में कार सवारों पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने के आरोपी शूटर को गिरफ्तार कर लिया है। उसके दाएं पैर में गोली लगी है। उसके कब्जे से तमंचा, कारतूस, घटना में प्रयुक्त बाइक के अलावा पांच हजार नगद व एक मोबाइल बरामद हुआ है। साथ ही फायरिंग कांड की साजिश रचने के आरोपी अजय दुबे और संतोष दुबे को रामजानकी तिराहे पर नव निर्मित फ्लाईओवर के नीचे से गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। चौथा नामजद आरोपी विशाल दुबे अब भी फरार है। उस पर एसपी आशीष श्रीवास्तव ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है। 

Crime News Today

एसपी आशीष श्रीवास्तव के अनुसार पुलिस टीम को सूचना मिली कि छावनी थाना क्षेत्र के अकला बंधा पर जानलेवा हमले का आरोपित शूटर मौजूद है। थानाध्यक्ष उमाशंकर त्रिपाठी व एसओजी प्रभारी की टीम ने बुधवार की देर रात घेराबंदी शुरू की तो वह भागने लगा। इसी बीच उसने पुलिस टीम पर तमंचा से फायरिंग शुरू कर दी। 

पुलिस ने खुद को सुरक्षित करते हुए जवाबी फायरिंग की तो आरोपित के दाएं पैर में गोली लगी और वह जमीन पर गिर पड़ा। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसपी के अनुसार फायरिंग कांड के आरोपी शूटर की पहचान अंबेडकरनगर नगर जिले के भीटी थानाक्षेत्र के बथुआ गांव निवासी आशुतोष दूबे उर्फ सुधीर के रूप में हुई। उसके खिलाफ पुलिस टीम पर हमला व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा कायम किया गया है। 

Crime News Today : 45 हजार में दी थी हत्या की सुपारी 


एसपी के अनुसार पूछताछ में आरोपी आशुतोष दुबे ने बताया कि छावनी के माझिलगांव निवासी आरोपी विशाल दुबे उसका दोस्त है। उसने मिलकर बताया था कि हमारे गांव के संतोष दुबे और राजेश वर्मा से विवाद है। इनकी बाउंड्री की ईंट को राजेश वर्मा ने उखड़वा दिया है। प्रधानी चुनाव हारने के बाद से ही मेरे चाचा अजय दुबे का भी विरोध करने लगे। मेरी चाची वर्तमान प्रधान हैं। तभी से राजेश वर्मा व इनके सहयोगी पूर्व प्रधान दिलीप दुबे हम लोगों को नीचा दिखाना चाहते हैं। इन्हें रास्ते से हटाने को कहा। 31 मई को विशाल के साथ माझिलगांव आया। यहां अजय दुबे व संतोष दुबे हम लोगों से मिलकर कहे कि चाहे जैसे भी हो राजेश वर्मा व दिलीप दुबे को रास्ते से हटाना है। मैंने 50 हजार की डिमांड की तो दोनों 45 हजार देने को तैयार हो गए। 25 हजार एडवांस देने के साथ 20 हजार काम होने के बाद देने को कहा था। इसके बाद विशाल के साथ बाइक से राजेश वर्मा व दिलीप दुबे की तलाश शुरू कर दी। शाम करीब छह बजे कार में राजेश वर्मा, दिलीप दुबे व प्रदीप वर्मा को देखा। छावनी पेट्रोल पंप के पास से कार पर तबाड़तोड़ फायरिंग कर भाग निकले थे। आशुतोष पर अंबेडकरनगर व सुल्तानपुर में हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में तीन मुकदमे पहले से दर्ज हैं। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.