Basti News: अमरनाथ यात्रा के लिए 11 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शुरू

13

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बस्ती : दो साल बाद बहाल हुए अमरनाथ यात्रा को लेकर अब तक कोई तैयारी नजर नहीं आ रही है। इससे यात्रा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं के सामने कई समस्याएं आ गई है। इस बार अमरनाथ यात्रा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से इजाफा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

अमरनाथ यात्रा के लिए 11 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शुरू हो रहा है। कोविड की वजह से दो साल से यात्रा नहीं हुई है, इसलिए इस बार श्रद्धालुओं में इसे लेकर काफी उत्साह भी है। यहां बैंकों में पंजीकरण की सुविधा नहीं है। ऐसे में श्रद्धालुओं को पंजीकरण के लिए फैजाबाद या फिर वैकल्पिक व्यवस्था करना पड़ता है। अभी तक चिकित्सकों की कमेटी तक नहीं गठित हो सकी है। इससे श्रद्धालुओं में असमंजस की स्थिति है। बस्ती से श्रद्धालुओं की टोली 27 जून को रवाना की जानी है। श्रद्धालु पुनीत ओझा ने बताया कि लगातार जिला अस्पताल में एसआइसी से संपर्क कर रहा हूं कि टीम गठित हुई कि नहीं, अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। बिना स्वास्थ्य प्रमाणपत्र के यात्रा संभव नहीं है।

बस्ती से 40 श्रद्धालु जाते हैं दर्शन करने :

कोरोना काल के चलते दो साल से अमरनाथ यात्रा स्थगित रही। अप्रैल में ही यह यात्रा शुरू होने जा रही है। जिले से पिछले साल 40 श्रद्धालु दर्शन को गए थे। इस बार अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ सकती है। यात्री पंजीकरण से लेकर ट्रेन के टिकट की बुकिग के लिए कागजात तैयार कर इंतजार कर रहे हैं, लेकिन अभी तक चिकित्सकों की टीम गठित न होने से उनके सामने संकट है। पंजीकरण के लिए आधार और फोटो की आवश्यकता पड़ती है। श्रद्धालुओं की जांच में हार्ट, बीपी और गांठ से संबंधित जांच होती है। एक दिन में जांच की प्रक्रिया पूर्ण की जाती है।

पंजीकरण के लिए रजिस्ट्री करेंगे श्रद्धालु :

पंजीकरण की सुविधा जिले में नहीं है। आधार कार्ड, फोटो समेत अन्य अभिलेख को अमरनाथ श्राइन बोर्ड को रजिस्ट्री करेंगे। बताते हैं कि आवेदन भेजने के बाद वहां से 10 से 15 दिन के भीतर पास जारी हो जाता है। उसी पास के आधार पर श्रद्धालु दर्शन करते हैं। इसके लिए प्रति श्रद्धालुओं को 50 रुपये खर्च करने पड़ते हैं। यदि पांच लोगों की टोली होगी तो 50 रुपये, यदि 10 की टोली होगी तो 100 रुपये और 10 से अधिक संख्या वाले टोली के प्रति श्रद्धालुओं को 150 रुपये फीस जमा करनी होती है।

अभी तक चिकित्सकों की टीम गठित करने की कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है। सूचना प्राप्त होते ही प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

डा. आलोक वर्मा, एसआइसी, जिला अस्पताल, बस्ती

Get real time updates directly on you device, subscribe now.