बैंककर्मियों ने किया निजीकरण के खिलाफ हड़ताल

8

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

हर्रैया टाइम्स

Basti news | यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के आह्वान पर दो दिवसीय हड़ताल में शामिल बैंककर्मियों ने गुरुवार को बैंकों के निजीकरण के खिलाफ विरोध जताया। कहा कि सरकार निजीकरण का बिल वापस ले, इसे बैंककर्मी किसी भी दशा में स्वीकार नहीं करेंगे।

बैंकों में हड़ताल के चलते कार्य ठप रहा। इससे उपभोक्ताओं को काफी असुविधा हुई। यूपीबीइयू बस्ती के मंत्री जेडयू खान ने कहा कि बैंकिग ला अमेंडमेंट बिल के विरोध में बैंक कर्मी दो दिवसीय हड़ताल पर है। हड़ताल में सभी राष्ट्रीयकृत बैंक के कर्मचारियों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। एआइपीएनबीयूए के मंडल सचिव पंकज कुमार पांडेय व अध्यक्ष प्रवीण कुमार ने कहा कि सरकार बैंक कर्मचारियों के हक को छीन रही है। लंबित मांगों को भी सरकार पूर्ण करने से परहेज कर रही है। इधर निजीकरण का बिल भी पेश किया जा चुका है। हड़ताल के बाद रोडवेज स्थित पंजाब नेशनल बैंक के मंडल कार्यालय से एक जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया गया। इससे पूर्व सभा कर बैंक कर्मियों ने अपनी ताकत दिखाई। विभिन्न बैंकिग समस्याओं पर चर्चा की गई। सीबीयूए के मंडल सचिव शक्ति सौरभ त्रिपाठी, एसबीआइयूए के क्षेत्रीय सचिव रवि शुक्ला, एनसीबीई के जिला मंत्री शिवदास आदि ने संबोधित किया। इसके अलावा विभिन्न बैंकों के अभिषेक पांडेय, दिलीप कुमार, अमित वर्मा, दीपक कुमार, शैलेश प्रताप सिंह, शिवम सिंह, गौरव सिंह, गुंजन गुप्ता, रचना श्रीवास्तव, श्वेता सिंह, दीप्ति त्रिपाठी, करुणा गुप्ता, नेहा, निहारिका, नीलू पाल, नीरज सिंह आदि मौजूद रहे।

एक हजार करोड़ का कारोबार हुआ प्रभावित : बैंकों में हड़ताल के चलते गुरुवार को करीब एक हजार करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। यूपीबीईयू बस्ती के मंत्री जेडयू खान ने बताया कि लेन-देन प्रभावित रहा। चेक से लेकर आदि कार्य ठप रहा। पीएनबी समेत अन्य बैंकों के एटीएम भी नो-कैश के चलते बंद रहे। इससे उपभोक्ताओं को काफी परेशानी हुई। लेन-देन के लिए उपभोक्ता भटकते नजर आए।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.