Basti’s Richest MLA :बस्ती में सबसे अमीर विधायक अजय सिंह और सबसे गरीब संजय जायसवाल

50

Harraiya / Rudhauli

Basti’s Richest MLA : एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा के 396 मौजूदा विधायकों की चल और अचल संपत्ति का खुलासा किया है। साथ ही मौजूदा 140 विधायकों का आपराधिक इतिहास भी सार्वजनिक किया है। एडीआर द्वारा किए गए दावों के मुताबिक बस्ती जिले में सर्वाधिक धनवान विधायक हर्रैया के अजय सिंह हैं। उनके पास कुल चल-अचल मिलाकर 7.42 करोड़ रुपये की संपत्ति है। तो सबसे गरीब विधायक रुधौली के संजय प्रताप जायसवाल हैं। उनके पास 65.20 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति है।

आपराधिक मुकदमों के मामले में संजय प्रताप जायसवाल वह प्रदेश के 140 विधायकों में 18वें नम्बर के साथ जिले में पहले स्थान पर हैं। उन पर चार मुकदमें दर्ज हैं। सूची में हर्रैया विधायक अजय सिंह 128वें और सदर विधायक दयराम चौधरी 130वें पायदान पर हैं। शेष महादेवा विधायक रवि सोनकर और कप्तानगंज विधायक सीपी शुक्ला अभी बेदाग हैं।

हर्रैया विधायक अजय सिंह के पास कुल संपत्ति 74210574 रुपए है जिसमें चल 34203574 और अचल संपत्ति 40007000 है। कप्तानगंज विधायक सीए सीपी शुक्ला के पास कुल संपत्ति 70132028 है जिसमें चल 9382028 और अचल संपत्ति 60750000 है। सदर विधायक दयाराम चौधरी के पास कुल संपत्ति 36796294 है जिसमें चल 4296294 और अचल 32500000 है। महादेवा विधायक रवि सोनकर के पास कुल संपत्ति 21539099 है जिसमें 17634099 और अचल संपत्ति 3905000 है। इसी क्रम में रुधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल के पास कुल संपत्ति 9568447 है जिसमें चल 3048447 और अचल संपत्ति 6520000 है। धनवान विधायकों की सूची में विधायक हर्रैया 77वें, कप्तानगंज विधायक 87वें, सदर विधायक 151, रवि सोनकर 219 और संजय प्रताप जायसवाल 320वें स्थान पर हैं।

मुकदमा : संजय नम्बर वन, अजय सिंह और दयाराम हैं जमानत पर

बस्ती: रुधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल पर पहला केस 20 अगस्त 2003 को आईपीसी की धारा 147, 148, 452, 323, 504 और 506 के तहत दर्ज हुआ। मामला सीजीएम बस्ती कोर्ट में विचाराधीन है।

दूसरा केस 17 अक्टूबर 2008 को आईपीसी की धारा 269, 504 और 506 के तहत दर्ज हुआ। एसीजीएम फर्स्ट बस्ती के यहां विचाराधीन है। तीसरा मामला 16 सितम्बर 2014 को आईपीसी की धारा 494 और 506 के तहत दर्ज हुआ। सीजीएम लखनऊ के यहां सुनवाई चल रही है। चौथा केस पांच दिसम्बर 2006 को आईपीसी की धारा 147, 323, 504, 506, 332, 353 और 382, 7 सीएलए एक्ट, 136 आरपी एक्ट के तहत कोतवाली बस्ती में दर्ज है। सीजीएम बस्ती के यहां सुनवाई जारी है।

हर्रैया विधायक अजय सिंह के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज है। छावनी थाने में 2005 में आईपीसी की धारा 143, 341 और 342 के तहत मामला दर्ज है। एसीजीएम सेकेंड के यहां विचाराधीन है जिस पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने स्टे दे रखा है।

Basti’s Richest MLA: Ajay Singh, the richest MLA in Basti and Sanjay Jaiswal the poorest

बस्ती सदर विधायक दयाराम चौधरी पर मुंडेरवा थाने में 1981 में आईपीसी की धारा 147, 323, 149 के तहत दर्ज हुआ था। सेशन कोर्ट तृतीय से डेढ़ साल की सजा सुनाई जा चुकी है। जमानत पर चल रहे विधायक की अपील इलाहाबाद हाईकोर्ट में विचाराधीन है।

harish dwivedi criminal report

harish dwivedi criminal report
harish dwivedi criminal report

Read The complete Report

Analysis of MPs, MLAs and Ministers Against Whom Charges Have Been Framed by The Court for Offences Falling Under Section 8(1) (2) & (3) of The R.P Act,1951 for the Period 2019 to 2021

Read Also : कौन हैं यूपी के सबसे अमीर विधायक?