Basti News : एईएफआई कमेटी करेगी नवजात की मौत की जांच

13

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

 बस्ती : जिला महिला अस्पताल में हुई नवजात की मौत की जांच एईएफआई (एडवर्स इवेंट फालोइंग इम्युनाइजेशन) कमेटी करेगी। जिला महिला अस्पताल के नियमित टीकाकरण केंद्र में नवजात को बीसीजी (बेसिल कैलमेट-गुएरिन) का टीका लगने के बाद उसकी हालत बिगड़ी थी। चिकित्सक के पास ले जाते समय उसने दम तोड़ दिया था। नवजात की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने तत्काल जांच शुरू कर दी है। कमेटी इस बात का पता लगाएगी कि किन हालात में नवजात की मौत हुई। भविष्य में इन हालात से बचने की सलाह दी जाएगी। नवजात की मौत की सूचना शासन को भी प्रेषित कर दी गई है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. फखरेयार हुसैन ने बताया कि नवजात की मौत के बाद खुद उनके द्वारा प्राथमिक जांच की गई। जांच में पाया गया कि जिस वायल से नवजात को टीका लगाया गया था, उसी वायल से नौ अन्य बच्चों को भी टीका लगाया गया था। अन्य किसी भी बच्चे को कोई शिकायत नहीं हुई है। टीकाकरण करने वाली वैक्सीनेटर अनुभवी हैं। टीकाकरण के सभी नियमों का पालन किया गया था। उन्होंने बताया कि बीसीजी का टीका सुरक्षित है, फिर भी इस बात का पता लगाया जाना जरूरी है कि टीकाकरण के समय बच्चे को किसी प्रकार की समस्या तो नहीं थी। अगर समस्या थी तो टीकाकरण से बचा जा सकता था। ठंड के मौसम में निमोनिया व हाईपोथर्मिया की शिकायत आम है, इससे भी बच्चों की मौत संभव है। गलत तरीके से स्तनपान कराने से दूध के फेफड़ों में चले जाने से भी मौत हो जाती है। नवजात को पूर्व में व टीका लगने के बाद क्या समस्या हुई, इसी बात का पता लगाने के लिए एईएफआई कमेटी से मामले की जांच कराई जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, टीकाकरण के समय भविष्य में उसका ध्यान रखा जाएगा।

जांच टीम में यह होंगे शामिल : जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. हुसैन ने बताया कि एईएफआई टीम में बालरोग विशेषज्ञ, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला सर्विलांस आफिसर आईडीएसपी, पैथालाजिस्ट के साथ ही यूनिसेफ व विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा। 10 दिन के अंदर टीम का गठन कर जांच कराई जाएगी। टीम घटना की जांच हर पहलू पर जांच करेगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.