अंबिका चौधरी विकिपीडिया, जीवन परिचय, ambika chaudhary wikipedia , Baliya, Biography in Hindi …

अंबिका चौधरी विकिपीडिया, जीवन परिचय, ambika chaudhary wikipedia , Baliya, Biography in Hindi …

अंबिका चौधरी विकिपीडिया

अम्बिका चौधरी (Ambika chaudhary ),भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोपाचीट विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र ( Kopacheet Constituency ) से सपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

बलिया के मूल निवासी अंबिका चौधरी ने न्यायिक सेवा की नौकरी छोड़कर सियासी सफर शुरू किया था। 65 वर्षीय चौधरी अखिलेश यादव सरकार में राजस्व, पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री रहे हैं। पूर्व की मुलायम सिंह यादव सरकार में भी अंबिका मंत्री थे। चौधरी को प्रगतिवादी सोच का नेता माना जाता है।

अम्बिका चौधरी 2017 और उससे पहले

अम्बिका चौधरी का जाना सपा को बड़ा झटका, बदल गई क्षेत्र की राजनीति

1993 से 2007 तक जिले की कोपाचीट (अब फेफना) सीट से विधायक तथा पार्टी व सरकार में अहम जिम्मेदारी निभा चुके अम्बिका चौधरी का बसपा में शामिल होना सपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

1992 में स्थापना के समय से ही समाजवादी पार्टी के अभिन्न अंग रहे अम्बिका चौधरी मुलायम सिंह यादव व शिवपाल सिंह यादव के बेहद करीबी रहे हैं। मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली सरकार में राजस्व मंत्री की जिम्मेदारी तो संभाली ही, कई मौकों पर मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर अम्बिका चौधरी देश व विदेश में विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सेदारी कर चुके हैं।

सदन में वे समाजवादी पार्टी के मुख्य सचेतक भी रहे। पार्टी में उनकी ताकत व अहमियत का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि 2012 के चुनाव में हारने के बावजूद अम्बिका चौधरी को विधान परिषद सदस्य बनाने के साथ ही अखिलेश यादव के मंत्रिमंडल में राजस्व मंत्रालय की अहम जिम्मेदारी सौंपी गयी।

हालांकि कुछ समय बाद ही अखिलेश यादव ने उन्हें झटके देने शुरू कर दिये। पहले राजस्व मंत्रालय जैसा अहम विभाग वापस लेकर विकलांग कल्याण जैसे कम महत्व वाले विभाग का मंत्री बनाया और उसके बाद बर्खास्त भी कर दिया। पिछले दिनों सपा में पार्टी व परिवार की रार में अम्बिका चौधरी खुले तौर पर मुलायम-शिवपाल के साथ खड़े रहे। सार्वजनिक बयान भी दिये कि जबतक सांस है, ‘नेताजी’ को नहीं छोड़ेंगे। इसी बीच, अम्बिका चौधरी का अचानक बसपा में जाने की खबर ने सबको चौंका दिया। शनिवार को इसकी सूचना जिले में पहुंचते ही सियासी हलचल तेज हो गयी। अचानक ही कई समीकरण बनने-बिगड़ने लगे।

अंबिका चौधरी का इतिहास

लगातार चार बार रहे विधायक
-1993 में सपा के टिकट पर अम्बिका चौधरी ने जनता दल के गौरी भइया को करीब 21 हजार वोटों से हराया
-1996 में सपा प्रत्याशी अम्बिका चौधरी ने भाजपा के सुधीर राय को करीब पांच हजार वोटों के अंतर से हराया
-वर्ष 2002 के विधानसभा चुनाव में सपा के अम्बिका चौधरी ने बसपा के सुग्रीव सिंह को करीब नौ हजार के अंतर से हराया
-वर्ष 2007 में सपा प्रत्याशी अम्बिका चौधरी ने बसपा के सुधीर राय को करीब छह हजार वोटों के अंतर से हराया

ambika chaudhary cast

अंबिका चौधरी किस पार्टी में है

अम्बिका चौधरी समाजवादी पार्टी में हैं।

इसे भी देखें

Trai Aadhaar क्या हैBrajesh Mishra Bharat Samachar Biography
Virendra Singh Bharat Samachar BiographyIAS Vijay Kiran Anand Biography in hindi
Rajkishore singh Ex MLA Harraiya biography
IAS Saumya Agarwal DM Basti Biography